कृषि बड़हिया समाचार

बंदरबांट में बांटला सरकारी अनुदान हो, बड़हिया-पिपरिया के किसनमा, हो गेलै बर्बाद हो…

बड़हिया और पिपरिया प्रखंड को सूखाग्रस्त प्रखंड घोषित नहीं होने से आहत किसानों ने की बैठक

बड़हिया: नगर के अतिव्यस्ततम लोहिया चौक स्थित डाकबंगला में सोमवार को किसान एकता मंच के तत्वावधान में सुखाड़ क्षेत्र की सूची से बाहर रहे बड़हिया व पिपड़िया किसानों की एक आम बैठक आयोजित की गई।बैठक की अध्यक्षता अनिल सिंह तथा मंच संचालन अमरेश कुमार अनीश ने किया।

आहूत बैठक में महेश्वरी सिंह को किसान एकता मंच के संयोजक के रूप में सर्व सम्मति से नामित किया गया।
बैठक में दर्जनों किसानों ने अपनी-अपनी बातें रखी।बैठक को संबोधित करते हुए अमरेश कुमार अनीश ने कहा कि हम सभी किसानों को संगठित होकर लड़ने के सिवा अन्य कोई दूसरा रास्ता नहीं है।

कवि राममूर्ति ने कविता पाठ कर सरकारी व्यवस्था पर तंज कसा तो वहीं संजय सिंह उर्फ पिंकू जी ने कहा कि हम किसान स्वयं भूखे रहकर भी भगवान से इंसान तक के भोजन पानी की व्यवस्था करते हुए हर क्षण संघर्ष करने वाले लोग हैं। हम सब संघर्ष के आदि हैं और यही हमारी नियति है।


आहूत बैठक में आगामी सोमवार 23 सितम्बर को सुबह 10 बजे प्रखंड कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लेते हुए अपनी मांगों की रूपरेखा तैयार की गई।

● लखीसराय जिला को तेलहन से दलहन क्षेत्र घोषित किया जाय।
● बैंक से किसानों की ऋण वसूली बंद की जाय।
● पटना जिला के तर्ज पर लखीसराय जिला को भी सब्सिडी पर दवा उपलब्ध करायी जाय
● नीलगाय एवं अन्य वन्य प्राणियों से फसल की सुरक्षा की जाय।

उक्त बैठक में नवीन सिंह, संजय सिंह, मुन्ना कुमार, शम्भु सिंह, उमेश सिंह, पिन्टू कुमार, रौशन कुमार, सूरज सिंह, दिनेश सिंह, नागेंद्र सिंह, चनाकी सिंह, मनोज कुमार, बुन्नी कुमार, अमोद कुमार, सिकु कुमार, त्रिशूल सिंह, पारस महतों, सुरेश महतों, मणिकांत पासवान सहित दर्जनों किसान उपस्थित थे।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें