बड़हिया शिक्षा समाचार सामाजिक

हाई स्कूल बड़हिया का खेल मैदान हुआ तालाब में तब्दील, बारिश के जलजमाव की नहीं हुई निकासी

बड़हिया: नगर पंचायत के बाजार स्थित बड़हिया हाई स्कूल के खेल मैदान में वर्षा का पानी जमा हो जाने से बड़े तालाब जैसी स्थिति बनी हुई है।बीते दिनों लगातार हुए वर्षा और पानी निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं रहने के कारण मैदान की स्थिति नारकीय बनी हुई है। नगर क्षेत्र में बड़हिया हाई स्कूल व पशु अस्पताल से लगे बड़का फील्ड ही मात्र ऐसा फिल्ड है जहां क्रिकेट, फुटबॉल व अन्य खेल का आयोजन किया जाता है।

वहीं नेताओं की सभा सहित कई बड़े कार्यक्रम का आयोजन होता है। फिल्ड में पानी जमा हो जाने के कारण छात्र-छात्राओं को खेलकूद में परेशानी तो होती ही है साथ ही दिनचर्या में शामिल हो चुके नगरवासियों के मॉर्निंग वॉक का रूटीन भी प्रभावित हो रहा है। विदित हो कि बड़हिया हाई स्कूल के मैदान में सुबह सवेरे मॉर्निंग वॉक में पहुंचने वाले युवक युवतियां, पुरुष व महिलाओं की अच्छी खासी संख्या हुआ करती थी,पर तालाब का रूप ले चुके मैदान ने सबों के रूटीन को प्रभावित कर दिया है।

मॉर्निंग वॉक में पहुंचने वाले युवक तो स्थान परिवर्तित कर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म को अपना मैदान बना कर अपने रूटीन को बनाये रखने में सक्षम दिख जाते है पर वृद्धावस्था से गुजर रहे महिला पुरुष व युवक सहित छोटे खेल प्रेमी बच्चे बच्चियां खेल मैदान में पानी जमा हो जाने से आउटडोर गेम से वंचित नजर आ रहे हैं। खेल से वंचित फुटबॉल खिलाड़ी लिप्पु सिंह, कालीचरण सिंह आदि कहते हैं कि पुराने अस्पताल से सटे व रिहायशी इलाकों के बीच स्थित यह मैदान नीचे हो जाने से जमे पानी से घिरा हुआ है।

जिसका कहीं से कोई निकास संभव प्रतीत नहीं हो रहा। प्रकृति के ऊपर आश्रित रहें तो पूरे मैदान में दो से ढाई फिट जमे पानी को सूखने में महीनों दिन लग जाएंगे। फिलहाल गर नगर प्रशासन द्वारा पम्पिंग सेट से पानी का निकासी कर समीप के कोठारी चौक स्थित जल निकासी नाले में गिराया जाय तो फिर समस्या से निजात पाया जा सकता है। इस संबंध में नगर कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि मैदान परिसर में बने जलजमाव से निजात के लिए विद्यालय प्रबंधन के पास खुद का संसाधन उपलब्ध होता है,उन्हें निदान के प्रति आगे आना चाहिए।
बड़हिया फोटो03: हाई स्कूल के मैदान में जमा वर्षा का पानी
बड़हिया फोटो04: तालाब के नजारे में दिख रहा खेल का मैदान

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें