समाचार

नम आंखों से दी गई ममतामई मां को विदाई

जय दुर्गे और जय माता दी के जयघोष के बीच शनिवार को मिनी बायपास में स्थापित होने वाली मां बड़ी चैती दुर्गा और छोटी दुर्गा मंदिर में स्थापित होने वाली चैती दुर्गा को अगले साल तक के लिए विदाई दे दी गई। जबकि इंदुपुर स्थित दुर्गा का विसर्जन आज रविवार को किया जाएगा। नगर के मुख्य मार्ग समेत बाजारों की रंगत विहंगम रही। महानवमी और विजयादशमी को आयोजित दशहरे का मेला पूरे शबाब पर रहा।

बदले मौसम और बारिश के बीच भी क्या बूढ़े और क्या बच्चे, हर उम्र के महिला और पुरुष मेले की खुशियों में सराबोर होते देखे गए। परंपरा अनुसार विसर्जन को जाती प्रतिमाओं को देखकर सड़क किनारे खड़े करबद्ध सभी श्रद्धालुओं को यह एहसास था कि इस विदाई के पीछे मां से पूरे एक साल तक की जुदाई निहित है। जिस कारण हर किसी की आंखें भर आई थी।

विशेषकर महिलाओं के हाल का तो कहना ही क्या, जैसे ही नगर विराजित प्रख्यात जगदंबा मंदिर के सम्मुख पहुंचकर ढोल गाजे बाजे और विधि व्यवस्थाओं के बीच बारी बारी से प्रतिमाएं विसर्जन के लिए अग्रसर हुई। तो मां के जयकारों के बीच वहां मौजूद लगभग हर महिला श्रद्धालुओं की आंखों से आंसुओं की धार फूट पड़ी। धूमधाम के साथ नगर विराजित दो प्रतिमाओं का विसर्जन देर शाम तक कर दिया गया। जबकि एक मात्र बचे प्रतिमा का विसर्जन आज किया जाएगा।

बड़हिया फोटो 14: विसर्जन को जाती प्रतिमा

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें