बड़हिया समाचार

मां कूष्मांडा की हुई पूजा अर्चना

बड़हिया: गुरूवार को नवरात्रा की चैथी शक्ति मां कूष्मांडा की विधि विधान एवं मंत्रोच्चार के साथ पूजा अर्चना की गयी।ऐसी मान्यता है कि अपनी मन्द हंसी से ब्रहमांड को उत्पन्न करने के कारण इनका नाम कूष्मांडा पड़ा।जब सृष्टि नहीं थी,तब मां कूष्मांडा ने ब्रहमांड की रचना की।इनका निवास सूर्यमंडल में है।सूर्यमंडल में वास करने की क्षमता और शक्ति केवल इन्हीं में है।देवी कूष्मांडा की सवारी सिंह है।मां के हाथों में कमंडल,धनुष,बाण,चक्र,गदा,कमल का फूल और अमृत से पूरित कलश है।मां कूष्मांडा का स्वरूप शक्ति प्रदान करनेवाला और आरोग्य प्रदान करनेवाला है।योगसाधकों के लिए नवरात्र का चैथा दिन विशेष महत्व का होता है।

About the author

AJIT KUMAR

अजित कुमार: आप पेशे से पत्रकार है। आप इलेक्ट्रोनिक और प्रिंट मीडिया में बड़हिया प्रखंड के लिए सेवा दे रहे है। बड़हिया में विकास को लेकर आप हर संभव प्रयास कर रहे है। बड़हिया के लिए अपना पूरा समय और सहयोग देते है। हर तरह से लोगों का उत्साह वर्धन भी करते है।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें