राजनीति समाचार

बिहार विधानसभा की दस सीटों पर उपचुनाव 21 अगस्त को

बिहार विधानसभा की खाली हुई 10 सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा कर दी गयी है। मतदान 21 अगस्त को जबकि मतगणना 25 अगस्त को की जाएगी। निर्वाचन आयोग ने शनिवार को उपचुनाव की समय सारणी जारी कर दी। इसके साथ ही इन विधानसभा क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

उपचुनाव की अधिसूचना 26 जुलाई को जारी की जायेगी। उम्मीदवारों के नामांकन की अंतिम तिथि दो अगस्त निर्धारित की गयी है। नामांकन पत्रों की जांच चार अगस्त को जबकि नाम वापसी की अंतिम तिथि छह अगस्त है. जिन 10 सीटों पर चुनाव होंगे, उनमें नरकटियागंज, राजनगर (अजा), जाले, छपरा, हाजीपुर, मोहिउद्दीनगर, परबत्ता, भागलपुर, बांका और मोहनिया शामिल हैं। ओबरा की सीट पर सर्वोच्च न्यायालय की ओर से रोक लगाये जाने के कारण अभी वहां मतदान नहीं होगा।

बिहार की बदली हुई राजनीतिक स्थिति में इस उपचुनाव का काफी महत्व बढ़ गया है। पिछले विधानसभा चुनाव में इन दस सीटों में से छह पर भाजपा को, तीन पर राजद को और एक पर सत्ताधारी जदयू को जीत मिली थी।

नरकटियागंज से विधायक सतीश चंद्र दूबे, जाले विधानसभा से विजय कुमार मिश्र, छपरा विस से जनार्दन सिंह सीग्रीवाल, हाजीपुर से नित्यानंद राय, मोहिउद्दीनगर से राणा गंगेश्वर सिंह, परबत्ता से सम्राट चौधरी, भागलपुर से अश्विनी कुमार चौबे, बांका से जावेद इकबाल अंसारी और मोहनिया विधानसभा सीट से छेदी पासवान के इस्तीफा देने के बाद इन सीटों पर उपचुनाव कराया जा रहा है।आयोग ने बिहार के इन क्षेत्र के वैसे सभी मतदाताओं को वोट का अधिकार दिया है जिनका नाम 18 जनवरी, 2014 की मतदाता सूची में प्रकाशित किया जा चुका है।

लोकसभा चुनाव के परिणाम के अनुसार बांका, मोहिउद्दीनगर,मोहनिया और नरकटियागंज में जदयू और राजद के सम्मिलित वोट भाजपा को मिले वोट से अधिक है। जबकि भागलपुर,छपरा, हाजीपुर,जाले, राजनगर, और परवत्ता में भाजपा को राजद और जदयू को मिले कुल वोट से अधिक वोट मिले हैं।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें