अपराध बड़हिया समाचार

मात्र तीन मिनट में लुटेरों ने दिया घटना को अंजाम

बड़हिया: शनिवार की रात बरौनी किउल रेलखंड पर हथिदह स्टेशन के पास बेखौफ अपराधियों ने 15028 डाउन गोरखपुर हटिया मौर्य एक्सप्रेस ट्रेन में मात्र तीन मिनट में दो यात्रियों की हत्या और लाखों के जेवर तथा नकदी की लूट की घटना को अंजाम देकर प्रशासन को खुली चुनौती पेश करते हुए आराम से गाड़ी को वैक्यूम कर फरार हो गये।मौर्य एक्सप्रेस ट्रेन में चल रहे सुरक्षा दस्ते में तैनात हवलदार विमल यादव,सिपाही निरंजन यादव,पंकज कुमार,उपेन्द्र पासवान तथा अरूण कुमार ने बताया कि बरौनी से हथिदह की लगभग 10 किलोमीटर की दूरी तय करने में ट्रेन को लगभग दो घंटे लगे।रात के लगभग 10 बजे मौर्य एक्सप्रेस को बरौनी से रवाना किया गया।जो सिमरिया,राजेन्द्र नगर,चकिया आदि स्टेशनों पर काफी देर तक रूकने के बाद तकरीबन 11 बजकर 49 मिनट पर हथिदह के उपरी स्टेशन पर पहुंची तथा 11 बजकर 50 मिनट पर खुल गयी।हथिदह स्टेशन से खुलने के कुछ ही देर बाद 11 बजकर 53 मिनट पर गाड़ी को वैक्यूम किया गया।उस दौरान वे लोग पीछे के डब्बे में थे।वैक्यूम होने के बाद वेलोग ट्रेन से उतरकर आगे की बोगियों की तरफ आ रहे थे।तभी 11 बजकर 56 मिनट पर गाड़ी खुल गयी और वेलोग बीच के डब्बे में सवार हो गये।इसलिए उन्हें सबसे आगे के डब्बे में घटी घटना का पता नहीं चल पाया।वहां से गाड़ी खुलने के बाद सीधे बड़हिया आकर रूकी।जहां उन्हें घटना की जानकारी मिली।इससे पता चलता है कि हथिदह से गाड़ी खुलने के बाद ही अपराधियों ने गाड़ी को वैक्यूम कर घटना को अंजाम दिया और वहीं अंधेरे और वीरान इलाके का लाभ उठाकर फरार होने में सफल रहे।ट्रेन में सवार यात्रियों तथा मृतक संजय यादव के भाई राहुल कुमार ने भी सुरक्षा दस्ते से मिलता जुलता बयान दिया।उन्होने भी हथिदह से गाड़ी खुलने के बाद ही दर्जनों की संख्या में ट्रेन में सवार लुटेरों द्वारा लूटपाट और हत्या के घटना को अंजाम देने तथा हथिदह स्टेशन के पास ही अपराधियों के उतरकर फरार होने की बात कही है।उधर सुरक्षा दस्ते तथा यात्रियों से पूछताछ के बाद जमालपुर रेल एसपी ने पत्रकारों को बताया कि बरौनी से गाड़ी के खुलने के बाद राजेन्द्र पुल,चकिया तथा हथिदह स्टेशन में से किसी स्टेशन पर ही अपराधी ट्रेन में सवार हुए तथा इस घटना को अंजाम दिया।इस दरम्यान संभवतः अपराधियों सुरक्षा दस्ते के स्थिति का अवलोकन किया होगा।चूंकि सुरक्षा दस्ता एसी बोगी के आसपास था।इसलिए अपराधियों ने आगे के इंजन से सटे बोगी में सवार होकर लूटपाट तथा हत्या की घटना को अंजाम दिया।हथिदह रेल थाना का मामला होने की बजह से उन्होने मामले को हथिदह रेल थाने के सुपुर्द कर दिया।हालांकि उन्होने अनुसंधान एवं अपराधियों के धड़पकड़ में हथिदह रेल पुलिस तथा हथिदह थाना पुलिस को हर तरह से सहयोग करने का आश्वासन दिया है।

01

02

03

04

About the author

AJIT KUMAR

अजित कुमार: आप पेशे से पत्रकार है। आप इलेक्ट्रोनिक और प्रिंट मीडिया में बड़हिया प्रखंड के लिए सेवा दे रहे है। बड़हिया में विकास को लेकर आप हर संभव प्रयास कर रहे है। बड़हिया के लिए अपना पूरा समय और सहयोग देते है। हर तरह से लोगों का उत्साह वर्धन भी करते है।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें