बड़हिया समाचार

टालक्षेत्र के गांवों का प्रखंड मुख्यालय से सम्पर्क भंग, नाव बना यातायात का एकमात्र साधन

बड़हिया: बड़हिया प्रखंड में हरूहर नदी अपने पूरे उफान पर है।हरूहर नदी में लगातार बढ़ रहे जलस्तर से टालक्षेत्र के दर्जनों गांवों का बड़हिया प्रखंड मुख्यालय से सम्पर्क भंग हो गया है।बाढ़ के पानी के बढ़ते दबाब से गंगासराय से गिरधरपुर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क तेलिया कुंआ के पास लगभग 50 से 60 गज तक बह गया है तथा सड़क के बीच में बनी पुलिया भी ध्वस्त हो गयी है। जिससे बड़हिया से गिरधरपुर, वीरूपुर, जानपुर, कमरपुर, नथनपुर, ऐंजनी,वीरूपुर समेत अनेक गांवों तक आने जाने में आमलोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।कई स्थानों पर लोगों को कमरभर और छातीभर पानी में घुसकर आने जाने को विवश होना प्ड़ रहा है।पानी के बढ़ने से टालक्षेत्र के दर्जनों गांव टापू में तब्दील हो गये हैं।टालक्षेत्र से बड़हिया आने का एकमात्र साधन नाव ही रह गया है।नाव के सहारे ही लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने को मजबूर हैं।गांवों में पशुओं के चारे की भी कमी हो गयी है।नदी के बढ़ते जलस्तर ने जहां टालक्षेत्र में रहनेवाले लोगों की परेशानी बढ़ा रखी है।वहीं दूसरी ओर टालक्षेत्र के डूब जाने से पूरे प्रदेश को दाल के मामले में आत्मनिर्भर बनानेवाले बड़हिया मोकामा टालक्षेत्र के किसानों में खुशी देखी जा रही है।विदित हो कि रबी फसल की उपज के लिए टालक्षेत्र के खेतों का डूबना अनिवार्य माना जाता है।उधर गंगा के जलस्तर में भी वृद्धि की सूचना है।गंगा और हरूहर नदी दोनों के जलस्तर में एकसाथ वृद्धि की जानकारी से टाल और दियारा क्षेत्र में भीषण बाढ़ की आशंका से लोग भयाक्रांत हैं।

1
फोटो 01ःबड़हिया प्रखंड के गंगासराय रेलवे पुल के पास पानी में डूबा सडक़

About the author

AJIT KUMAR

अजित कुमार: आप पेशे से पत्रकार है। आप इलेक्ट्रोनिक और प्रिंट मीडिया में बड़हिया प्रखंड के लिए सेवा दे रहे है। बड़हिया में विकास को लेकर आप हर संभव प्रयास कर रहे है। बड़हिया के लिए अपना पूरा समय और सहयोग देते है। हर तरह से लोगों का उत्साह वर्धन भी करते है।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें