BARHIYA बड़हिया शिक्षा समाचार सम्पादकीय सामाजिक

बड़हिया नगर पंचायत स्थित स्कुल की समस्याओं को लेकर विभाग सुस्त

प्राइमरी स्कुल को अपना भवन नही

बड़हिया: बड़हिया नगर पंचायत में अवस्थित प्राथमिक विद्यालय पुरानी छावनी की बदतर स्थिति शिक्षा विभाग और स्थानीय प्रशासन के उदासीन रवैये को रेखंाकित करता है। विदित है कि इस विद्यालय में 210 नामंकित बच्चे अध्ययन करते है।परन्तु इस विद्यालय को आज तक अपना भवन उपलब्ध नही हो पाया है।किसी तरह ग्रामीणों के सहयोग से चंदा करके शिक्षक एस्वेस्टस की छावनी डालकर उसमें बच्चों को पढानें का काम कर रहे है।बच्चों के पीने के लिए एक भी चापाकल नही है और न ही बच्चों के शोैचालय की व्यवस्था है।भीषण गर्मी ठंढ एंव बरसात में बच्चे किस ढंग सेे चारों ओर से खुले इस कर्कट के छावनी में पढाई करते है।इसका अंदाजा लोगो के रोगटे खडा कर देता है।विद्यालय के प्रभारी अनिल कुमार एवं सहायक शिक्षक नागेन्द्र कुमार ने बताया की भवनहीन,शौचालय विहीन एवं बगैर चापाकल की व्यवस्था के यहां बच्चों एंव शिक्षकों को काफी कठनाईयों का सामना करना पड़ता है।भवन के अभाव मे विद्यालय के बच्चंे मध्याहन भोजन से वंचित है। यहां तक कि कुर्सी ,टेबुल और विद्यालय के तमाम अभिलेख भी रखने का स्थान नही है।शिक्षकों की भी कमी है।अभी प्रभारी सहित कुल चार शिक्षक विद्यालय मंें पदस्थापित हैं।प्रभारी ने बताया कि विद्यालय के लिए अंचलाधिकारी ने तीन कट्ठा सरकारी जमीन की अनुशंसा करके भूमि उपसमाहर्ता के पास अनुमोदन के लिए भेजा है।मगर अबतक विद्यालय का भवन बनाने की दिशा में कोई खास प्रगति नही हो पाई है।ग्रामीण मनोज कुमार, वार्ड पार्षद हरेश कुमार ,शशि कुमार ,अनिल पासवान,अमित कुमार आदि ने जिला शिक्षा अधीक्षक एवं डीएम से अतिशीघ्र विद्यालय के लिए भवन एवं शौचालय का निर्माण कराने की मांग की है।

02
फोटो 02 कर्कट की छत के नीचे अधययन करते बड़हिया पुरानी छावनी इंगलिश के बच्चे

About the author

AJIT KUMAR

अजित कुमार: आप पेशे से पत्रकार है। आप इलेक्ट्रोनिक और प्रिंट मीडिया में बड़हिया प्रखंड के लिए सेवा दे रहे है। बड़हिया में विकास को लेकर आप हर संभव प्रयास कर रहे है। बड़हिया के लिए अपना पूरा समय और सहयोग देते है। हर तरह से लोगों का उत्साह वर्धन भी करते है।

हमसे जुड़े

जरा हट के

पुराने समाचार यहाँ देखें